Home > लूनी नदी का उद्गम स्थान कुल लंबाई अपवाह क्षेत्र और मैप – Luni River Rajasthan

लूनी नदी का उद्गम स्थान कुल लंबाई अपवाह क्षेत्र और मैप – Luni River Rajasthan

luni river rajasthan map RAS RSMSSB RPSC

लूनी नदी (Luni River Rajasthan) पश्चिमी राजस्थान की सबसे प्रमुख नदी है लूनी नदी का उद्गम स्थान अजमेर में है यह नदी अजमेर के नाग पहाड़ से निकलती है और पश्चिमी राजस्थान को पानी देते हुए कच्छ के रण में विलीन हो जाती है इसकी कुल लंबाई 320 किलोमीटर है ।

लूनी नदी (Luni River Rajasthan)

नाग पहाड़ अजमेर से निकलने के बाद लूनी नदी का पानी बालोतरा तक मीठा रहता है और उसके बाद नमक की प्रबलता के कारण खारा (Luni River Salty water) हो जाता है इसका जल ग्रहण क्षेत्रफल 34250 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है ।

Luni River Map Rajasthan Source: Google map

लूनी नदी कहां कहां बहती है?

राजस्थान में लूनी नदी अजमेर नागौर जोधपुर पाली बाड़मेर और जालौर क्षेत्र में 320 किलोमीटर तक बहती है, यह (Luni River) केवल वर्षा काल में प्रवाहित होती है ।

जालौर जिले में लूनी नदी के बाढ़ क्षेत्र को नेहड (रेल) कहते हैं

Luni river Rajasthan map district wise
Luni river Rajasthan map district wise
luni river rajasthan map sahayak nadiya
luni river rajasthan map sahayak nadiya

लूनी नदी की सहायक नदियां (Tributary of Luni River)

लूनी नदी की प्रमुख सहायक नदियों में जोजड़ी, लीलड़ी, मीठड़ी, जवाई, सुखडी, बाड़ी और सागी नदियाँ है ।

लीलड़ी: अजमेर में जवाजा के निकट से निकल के पाली जिले में लूनी नदी से मिल जाती है

मीठड़ी: पाली तहसील में अरावली से निकलकर पाली बाड़मेर में बहते हुए पवाला गांव के समीप लूनी नदी में मिल जाती है

जवाई नदी: पाली तहसील में गोरिया गांव से निकलती है और जालौर में पल्लाई गांव के समीप इसके बाएं किनारे पर सुकड़ी नदी तथा बिराना गांव में यह खारी नदी में मिल जाती है उसके पश्चात बाड़मेर में लूणी से मिलती है, किस नदी पर जवाई बांध बना हुआ है

सुखडी फर्स्ट: यह अरावली से निकलकर बाली में सरदार संबंध में गिरती है

सुकडी सेकंड: यह अरावली की पहाड़ियों से निकलकर पाली में बहती हुई बाड़मेर आकर लूणी में मिलती है

सुकडी थर्ड: यह खारी और जवाई नदी के संगम के बाद में नदी के ऊपरी भाग में एक सहायक नदी की तरह लूनी में मिल जाती है

बाड़ी फर्स्ट: यह अरावली की पहाड़ियों से निकलकर पाली में लालसनी गांव में लूनी में मिलती है

बाड़ी सेकंड: यह नदी सिरोही में अरावली पहाड़ियों से निकलकर जालौर में सुकड़ी थर्ड नदी में मिल जाती है

सागी नदी: यह भी सिरोही की अरावली पहाड़ियों से निकलकर जालौर में बहती हुई बाड़मेर जाकर लूणी में मिलती है

लूनी नदी के प्रदूषण का प्रमुख स्त्रोत क्या है – रंगाई छपाई उद्योग

लूनी नदी कहां से निकलती है- नाग पहाड़ अजमेर

यदि आप लूनी नदी के किनारे उसके उद्गम से अंत तक की यात्रा करते हैं तो आप उसकी सहायक नदियों को किस क्रम में पाएंगे – गुहिया बांडी सुकड़ी जवाई

कौन सी एक नदी तो सिर्फ पश्चिमी राजस्थान में बहती है – लूणी

पुष्कर की पहाड़ियों में भारी वर्षा होती है तो बाढ़ कहां पर आती है – बालोतरा

लूनी नदी की निम्न सहायक नदियों (बांडी जोजड़ी लीलड़ी जवाई) में से अरावली पर्वत माला से नहीं निकलने वाली नदी है – जोजड़ी नागौर से निकलती है

जवाई बांध किस जिले में स्थित है – पाली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *