Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan

Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan (सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग राजस्थान)

राजस्थान सरकार की तरफ से गरीब लोगो को न्याय दिलाने के लिए सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग का गठन किया गया | Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan राज्य में समाज के कमजोर और उपेक्षित वर्गों के कल्याण के लिए कार्य करता है।

राजस्थान के SC/ST/OBC/EWS/विधवा/अन्य कमजोर लोगो के अलग अलग प्रोग्राम के तहत जागरूक करना और इनके हक़ के लिए काम करना ही सामाजिक न्याय विभाग का मुख्य काम है

परभारी मंत्री: मास्टर भंवरलाल मेघवाल (CABINET MINISTER)

श्री राजेन्द्र सिंह यादव (STATE MINISTER)

श्री अखिल अरोड़ा (PRINCIPAL SECRETARY)

मुख्य कार्यालय: JAIPUR

COMMISSIONER: श्री संवरमल वर्मा

OFFICIAL WEBSITE: sje.rajasthan.gov.in

सामाजिक न्याय विभाग के मुख्य उदेश्य:

  • Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan के कमजोर वर्गो को सामाजिक और आर्थिक रूप से ऊपर उठाने का काम करता है
  • जरूरतमंद वर्ग के युवाओ को फ्री हॉस्टल और स्कॉलरशिप प्रदान करना, इस स्कॉलरशिप स्कीम के तहत गरीब बच्चे अच्छे स्कूल कॉलेज में एडमिशन्स ले सकते है और अच्छे नंबर वाले छात्रो को सामाजिक न्याय विभाग की तरफ से पूरी कॉलेज फी की स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है
  • ये विभाग बुजुर्ग और विधवाओं के लिए भी समय समय पर स्कीम चलाकर सहायता प्रदान करता है
  • ये विभाग नशा मुक्ति में भी अहम् योगदान देना है जिससे युवा अपना समय और करियर नशे में बर्बाद करने से बचे |

SAMAJIK NYAY ADHIKARITA VIBHAG RAJASTHAN के पदभार:

samajik nyay adhikarita vibhag rajasthan padnam

Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan आपको अनेक तरह के कानून देता है जिसका आप फायदा उठा सकते है

RAJASTHAN के सामाजिक सुरक्षा सेवा नियम 1963

राजस्थान के बेरोजगारी सम्बंधित नियम और कानून

जरुरत मंद वर्ग को घर और शिक्षा में प्रवेश सम्बंधित नियम

SC/ST में अत्याचार रोकने सम्बंधित नियम

और ज्यादा आप यहाँ देख सकते है RAJASTHAN NIYAM KANOON

अगर आप NGO खोल रहे है तो आप सामाजिक न्याय विभाग से ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है

ONLINE APPLY FOR NGO

READ MORE EWS CERTIFICATE RAJASTHAN

2 thoughts on “Samajik Nyay Adhikarita Vibhag Rajasthan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *